loader image

श्रृंखला में सबसे पहले

श्री एन आर नारायण मूर्ति

सह - संस्थापक इन्फोसिस

इन्फोसिस के सह - संस्थापक श्री एन आर नारायण मूर्ति जी ने प्रारंभिक रूप मे सत्य विज्ञान फ़ाउंडेशन की नये शृंखला TRUTHtalks की निव रखी | इस वार्ता मे सत्य के साथ प्रयोग और धैरयशील होने के महत्त्व पर प्रकाश डाला गया | उन्होंने अपने जीवन मे घटी घटनाओं के आधार पर ईमानदारी का मूल्य, पारदर्शिता और कॉर्पोरेट जीवन मे अखंडता पर बात की |
गोविंदराज एथिराज के साथ बातचीत के समय जीवन में सत्यवादिता कैसे पैदा कर सकते है इस बात पर उन्होंने समाज के सभी वर्गों को सबसे योग्य और बहुत जरूरी मार्गदर्शन दिया |

प्रेरणादायक बातचीत मे देखे

जस्टिस बी.एन. श्रीकृष्ण

एंकर -
सोमशेखर सुदरिशन

इस चर्चा मे 'महानतम भलाई ', 'जो मुझे अच्छा नहीं लगा वह', 'जो सबके लिए अच्छा या बुरा है', 'कूटनीति' के सिद्धांतों का उपयोग करके सत्य और अखंडता के मार्ग पर चलने के महत्व पर प्रकाश डाला। सत्य को अधिक प्रभावी बनाना और झूठ नहीं बोलना ', आदि या कानूनी बाध्यता।

जस्टिस बीएन श्रीकृष्ण, वह शख्स जिन्हे भारत के सत्य का विजेता और नीति उद्घोषक समझा जाता है, उन्होंने सत्य के अभ्यास के बारे में अपने विचार और विश्वास साझा किए हैं।
हमारे जीवन में सत्य के हिस्से को कैसे विकसित किया जाए, इस पर उन्होंने हमें सत्य और अखंडता की यात्रा की दिशा में एक रास्ता दिखाया है । इस चर्चा ने सत्य के अर्थ पर ठोस तरीके से प्रकाश डाला।

श्रृंखला की तिसरी चर्चा मे

राहुल द्रविड़

एंकर -
अयाज़ मेनन

ऐतिहासिक जीत और भारतीय खेलों के भविष्य को आकार देने वाले व्यक्ति ने अपने विचारों, सिद्धांतों और विश्वासों को साझा किया है।
उनका मानना ​​है कि खेलों का पूरा आधार कुछ नियमों और विनियमों के साथ आयोजित किया जाता है और यह बहुत महत्वपूर्ण है कि इसका पूरी तरह से पालन किया जाए। हमारे सुपर स्पोर्ट्समैन का मानना ​​है कि सफलता के रास्ते में अशिष्ट, बेईमान और बुरा होना शामिल नहीं होता है।
TRUTHtalks के लिये बहुत प्यारे और बेहद सम्मानित क्रिकेटर ने एक व्यक्ति, खिलाड़ी और भारतीय क्रिकेट के भविष्य का रक्षक होने के नाते उनके लिए सत्यनिष्ठा और सच्चाई क्या है, और यह उनके करियर में कैसे भूमिका निभाती है इसके बारे मे वरिष्ठ खेल संपादक अयाज़ मेमन के साथ चर्चा मे बात की।

TRUTHtalk मे सच का मार्ग दिखाते हुए

बी के शिवानी

एंकर -
निधि पांड्या

जिन्होंने अनुग्रह और गरिमा के साथ अपने जीवन में कई भूमिकाएँ निभाईं, और अपने सिद्धांतों से समझौता किए बिना, सत्य और ईमानदारी के महत्व को साझा किया वह महिला आज हमारे साथ हमारे जीवन को अधिक सामंजस्यपूर्ण और आरामदायक बनाने के लिए यहां हमारे साथ है। हमारे सत्य टाइटन और दुनिया भर में लाखों लोगों के लिए एक प्रेरणा का मानना ​​है कि सत्य शाश्वत है और किसी के जीवन पर लंबे समय तक सकारात्मक प्रभाव डालता है।
TRUTHtalks प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से, सिस्टर शिवानी ने सच्चाई और झूठ के बीच के चौराहे पर, सत्य के मार्ग का नेतृत्व करने के लिए कदम उठाया। उन्होंने सच्चाई के साथ कुछ जटिल प्रयास भी साझा किए, जिसने उन्हे एक बेहतर इंसान के रूप में आकार दिया और ईमानदारी और विनम्रता के साथ अपने व्यक्तित्व को समृद्ध किया। सच्चाई पर उनकी विचारशील अंतर्दृष्टि निश्चित रूप से दुनिया भर में सभी आयु वर्ग के लोगों को प्रेरित करती है।

hi_INHindi